बिसरख पुलिस ने एनसीआर में ऑन डिमांड वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके दो साथी दो दिन पहले ग्रेनो वेस्ट में पुलिस मुठभेड़ के दौरान पकड़े गए थे। यह गिरोह सबसे ज्यादा बुलट बाइक चोरी करता था। बदमाश पेचकस से बुलेट बाइक का लॉक तोड़कर उसे स्टार्ट कर आसानी से लेकर फरार हो जाते थे। पुलिस ने इनके पास से चोरी की दो कार और 16 बाइक बरामद की हैं। इनमें नौ बुलेट बाइक हैं। 
डीसीपी सेंट्रल नोएडा हरीश चंदर ने बताया कि बिसरख कोतवाली प्रभारी अनीता चौहान टीम के साथ मंगलवार की शाम गौर सिटी-2 पुलिया के पास वाहनों की चेकिंग कर रही थीं। इस दौरान कार सवार तीन युवकों को पुलिस ने चेकिंग के लिए रोका तो वह भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर कार सवार अंकित, सौरभ और अभिषेक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि आरोपी वाहन चोर हैं। पुलिस ने बताया कि अंकित दयालपुर हाथरस, सौरभ विजय नगर गाजियाबाद और अभिषेक सिरसागंज जिला फिरोजाबाद का रहने वाला है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह दिल्ली-एनसीआर से ऑन डिमांड वाहन चोरी करते थे।

डीसीपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी अंकित ने वर्ष 2016 में कानपुर के फजलगंज से एक कार बुक की थी। उसने गौतमबुद्ध नगर में आकर चालक की हत्या कर यह कार लूट ली थी। अंकित के दो अन्य साथी सिराज और रामू सोमवार रात कोतवाली बिसरख पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में गिरफ्तार हो चुके हैं। मुठभेड़ में पकड़े गए बदमाशों से पूछताछ के बाद इन तीनों आरोपियों के बारे में जानकारी मिली थी।

देहात के इलाके में बेचते थे चुरा वाहन

डीसीपी सेंट्रल ने बताया कि आरोपी दिल्ली-एनसीआर से चुराए वाहन पश्चिमी यूपी के गांवों में लोगों को बेच देते थे। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह बाइक को 20 से 25 हजार और गाड़ी को एक से डेढ़ लाख रुपये में बेचते थे।

पुलिसकर्मियों की बुलेट भी नहीं छोड़ी

डीसीपी ने बताया कि इन बदमाशों ने पुलिसकर्मियों की बुलेट भी चोरी की थी। पुलिस को पता चला कि इस गैंग ने जनपद लखीमपुर में तैनात यूपी पुलिस के दरोगा की बुलेट चोरी की थी। वहीं, दिल्ली पुलिस के एक दरोगा की बुलेट बाइक को इंदिरापुरम से चुराया था। यह बुलेट  30-35 हजार में बेची थी।

मोटरसाइकिल की बरामदगी पर खुश हुआ पीड़ित

पुलिस को पता चला कि एक बुलेट योगेंद्र कुमार तिवारी निवासी इंदिरापुरम की है। पुलिस ने पीड़ित को थाने में बुलाकर उनकी मोटरसाइकिल की पहचान करवाई। अपनी बुलेट बाइक को देखकर पीड़ित काफी खुश हुआ। पीड़ित ने बताया कि 10 जनवरी की रात बदमाशों ने उसकी पंचर बाइक चोरी कर ली थी।

पुलिस टीम को 25 हज़ार का इनाम

डीसीपी ने वाहन चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा करने वाली बिसरख पुलिस की टीम को उनकी तरफ से 25 हजार रुपये का इनाम दिए जाने की घोषणा की है। डीसीपी द्वारा पुलिस टीम को नगद इनाम दिया जाएगा।