नई दिल्ली । भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के मोहन स्थित इंडियन मेडिसिन्स फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईएमपीसीएल) (केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम) ने 18 आयुर्वेदिक उत्पादों के डब्ल्यूएचओ-जीएमपी/सीओपीपी प्रमाणन के लिए आवेदन किया है। आवेदन की जांच औषधि महानियंत्रक (भारत) के कार्यालय में की गई है तथा इकाई का संयुक्त निरीक्षण मार्च 2021 में किया था जिसमें केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ), आयुष मंत्रालय तथा उत्तराखंड सरकार के राज्य लाइसेंसिंग प्राधिकरण के अधिकारी शामिल थे। शीघ्र अनुपालन के लिए संयुक्त निरीक्षण दल की टिप्पणियां आईएमपीसीएल को भेज दी गई है। संगत प्रावधानों तथा दिशा-निर्देशों के अनुरूप औषधि महानियंत्रक (भारत) द्वारा डब्ल्यूएचओ-जीएमपी/सीओपीपी जारी किया जाएगा। यह जानकारी आयुष राज्यमंत्री महेन्द्रभाई मुंजापारा द्वारा आज राज्यसभा में एक लिखित उत्तर में दी गई।